Emportent of time । समय का महत्व

Emportent of time । समय का महत्व

Emportent of time । समय का महत्व

Emportent of time । समय का महत्व
प्रिय मित्रो समय समय का महत्व उस आदमी से पूछो जिसका एक्सिडेंट होने से एक सेकेंड पहले ही रोड ना करास करने का इरादा बना लिया हो सफल व्यक्तियों का ये महत्तपूर्ण वाक्य है कल करो सो आज आज करो सो अभी यह आदर्श वाक्य अनेक युवकों का जीवन विनाश से बचा सकता है काम को भविष्य के ऊपर टालने से जीवन में अनेकों कठिनाइयों का सामना करना पड़ता है और जीवन अंधकार पूर्ण हो जाता है

समय को टालने की आदत

समय को टालने की आदत बहुत से व्यक्तियों में पाई जाती है वो लोग वर्तमान समय को सुभ नहीं मानते मिथ्या आडम्बर के चलते बहुत से लोग अपने महत्त पूर्ण समय को अपने हाथो से गवा देते है ऐसे लोगो के जीवन में सूभ मुहूर्त कभी नहीं आती है ऐसे लोग अपने आपको सिर्फ धोखा दे सकते है ।इस दोस से मुक्ति पाना हो तो इसका एक ही उपाय है जो भी काम आपके मन में चल रहा है उसे अभी से इसी वक्त से आरंभ कीजिए । जिस दिन इस कार्य को आरंभ कर देंगे इसके तुरंत बाद यह एहसास होगा कि मैंने ये काम और पहले क्यो नहीं चालू किया उस वक्त सिर्फ आपके पास पछतावा मात्र रह जाएगा ।

समय के साथ जो भी चला विजय उसको ही मिला

  • जो तुरंत कार्य करता है वस्तुत: वहीं विजई भवः होता है
  • उस व्यक्ति से पूछ कर देखीए उसकी सफलता का राज सही समय पर सही निर्णय को ही बताएगा
  • जो व्यक्ति आज का कार्य आज ही करता है उसका कार्य छमता और ज्यादा संगठित  होती है      
 डाक्टर चर्मस का कहना है कि मानवीय संबंधों में महान सक्रिय सफलता के लिए दो गुण बहुत ही आवश्यक है
  1. कार्य सकती
  2. तुरंत काम करने की आदत

समय का सूभ एवम् अशुभ होना

जरा विचार कीजिए भगवान ने कौन सा दिन शुभ अथवा कौन सा दिन अशुभ बनाया है जिसका मनुष्य रोना रोता है किसी के घर में बचा पैदा होता है कोई मुहूर्त देख कर । किसी बुजुर्ग की मृत्यु होती है समय का सूभ और अशुभ देख कर कदापि नहीं भगवान ने तो सभी दिन एक समान बनाए है बस हम इंसानों की कारीगरी की देन है जिसके कारण हम दिनों के ऊपर भी मत भेद रखते।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *