अपने भविष्य का निर्माता खुद बने Be your own future creator

अपने भविष्य का निर्माता खुद बने Be your own future creator

अपने भविष्य का निर्माता खुद बने Be your own future creator

मनुष्य के जीवन में अनेक अवसर आते है जिनका  सद्पयोग करके वह अपने भविस्य का निर्माता बन सकता है जो व्यक्ति समय की पहचान नहीं करता वह वहीं का वहीं रह जाता है समय किसी का प्रतिछा नहीं करता समय ना ही रुकता है ना ही ठहरता है वह तो सदा गतिमान है  समय एक बार चला गया तो वापस नहीं आता है।

     समय का हमेशा सदपायोग करो जो आपका नियमित कार्य है उसे पूरा करके बचे हुवे समय को किसी दूसरे कार्य को कर सकते है सीख सकते है यह अतिरिक्त कार्य आपके जीवन को ऊर्जावान तो बनाएगा ही आपकी उन्नति का नया दोवार भी खोलेगा ।

               
       एक समय की बात है एक व्यक्ति एक किसी  महानगरी बस सेवा में कंडक्टर पद पर नियुक्त हुआ उसका कार्य बस में टिकट काटने का काम था वह सवारियों को टिकट देते वक्त बड़े ही चुटकीले अंदाज में बात करता था उसकी बात सुनकर बस के सभी लोग हस पड़ते थे एक दिन उसके बस में एक फिल्म का डायरेक्टर चड़ गया उसकी बातो को सुन कर वो भी हस्ते हस्ते लोट पोट हो गया उसे लगा यह व्यक्ति तो एक अच्छा हास्य कलाकार साबित हो सकता है इसलिए वह अपना परिचय देकर एक दिन उसे अपने आफिस में मिलने के लिए बुलाया।

     फिर क्या था बस कंडकटर दूसरे दिन अपना काम खत्म करके उस निर्माता के आफिस पहुंच गया निर्माता ने उसका इस्करिन्न टेस्ट लेकर उसको अपने फिल्म में काम देने का ऑफार दिया जिससे वो तुरंत स्वीकार कर लिया और उसकी पहली है फिल्म  हीट हो गई लोग उसके सिन को खूब पसंद किए।

      इस घटना ने उसके कार्य छेत्र तो बदल ही दिया ऊपर से इतना नाम सोहरट मिला की उसको बस कंडक्टर रहते कभी नहीं मिलता।

धन्यवाद

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *